PM मोदी योजनाकेंद्र सरकार स्कीम

Ustad Yojana की पूरी जानकारी : छोटे दर्जे के शिल्पकारों को मिला सुनहरा मोका कोन ले सकता है लाभ ?

परिचय :

तो नमस्कार दोस्तो । कैसे है आप सब आशा करते है आप सब ठीक ही होंगे , तो एक बार फिर से आपका बहुत बहुत स्वागत है , हमारी आज की नयी पोस्ट Ustad Yojana की पूरी जानकारी : छोटे दर्जे के शिल्पकारों को मिला सुनहरा मोका कोन ले सकता है लाभ ? मे जिसमे आज हम आपको बताने वाले है किस प्रकार छोटे शिल्पकर अपना जीवन अब बहुत ही अच्छे से बिता सकते है उस्ताद योजना के जरिये मोका मिलेगा अपने कारोबार को बढ़ाने का तो आइये शुरू करते है Ustad Yojana की पूरी जानकारी : छोटे दर्जे के शिल्पकारों को मिला सुनहरा मोका कोन ले सकता है लाभ ?

Ustad Yojana की पूरी जानकारी : 

केंद्र सरकार ने हस्तशिल्पियों और पारंपरिक दस्तकारों के हितों की रक्षा के लिए उस्ताद योजना शुरू की है. केंद्र सरकार की उस्ताद (अपग्रेडिंग द स्किल्स एंड ट्रेनिंग इन ट्रेडिशनल आर्ट्स/क्राफ्ट्स फॉर डवलपमेंट-(USTTAD) योजना इसी दिशा में एक कदम है.

उस्ताद योजना में 45 साल तक की उम्र के लोगों को 3-8 महीने की कुशलता सीखने में हर महीने 3,000 रुपये का स्टाइपेंड मिलता है.

सरकार का इरादा विकासोन्मुख क्षेत्रों से जुड़े अल्पसंख्यक समुदाय के कामगारों को बड़े बाजार नेटवर्क का हिस्सा बनाने का है. कौशल विकास, शिक्षा, कर्ज की उपलब्धता उस्ताद से संबंधित रणनीति में अहम भूमिका निभाएगी.

देश में अशिक्षा, अज्ञानता और गरीबी के चलते पारंपरिक कला के पेशे से जुड़े गई लोग अपनी कला से दूर हो रहे हैं. पारंपरिक धरोहर के प्रति इस बेरुखी को देखते हुए सरकार ने 14 मई 2015 को वाराणसी से इस योजना की शुरुआत की है.

यह भी पढे —

आखिर मिल ही गया इंस्टाग्राम पर डेली के 1500 फॉलोवर्स बढ़ाने का तरीका, अभी करे ट्राइ ?

Ustad Yojana की खास बाते :

1- उस्ताद योजना राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय बाजार के साथ पारंपरिक कला/शिल्प के संबंध स्थापित करेगी.

2- उस्ताद योजना का वित्तपोषण केंद्र सरकार द्वारा किया जा रहा है.

3- उस्ताद से बड़ी कंपनियों से प्रतिस्पर्धा करने के लिए कुशल और अकुशल दस्तकारों एवं शिल्पकारों को प्रशिक्षित किया जा रहा है.

4- योजना के माध्यम से अल्पसंख्यक समुदाय से संबंधित युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराकर बेहतर भविष्य प्रदान करने पर जोर है

5- उस्ताद योजना को पूरे देश में लागू करने का प्रस्ताव है.

यह भी जाने —–

Kisan Suryoday Yojana Online Apply 2022 : सूर्योदय योजना के लिए आवेदन , दस्तावेज़ की पूरी जानकारी 

ट्रेनिंग के साथ स्टाइपेंड भी :

1- उस्ताद योजना के तहत कुशलता सीखने वाले लोगों को हर महीने 3,000 रुपये का स्टाइपेंड भी मिलता है. इसके लिए मास्टर ट्रेनर की फीस 50,000 रुपये महीने है. साल 2020 में मोदी सरकार उस्ताद योजना की समीक्षा करेगी.

2- कुशलता सीखने से संबंधित इस कोर्स को पूरा करने में 3-8 महीने का समय लगता है.

3- उस्ताद योजना में उम्र सीमा पहले 14 से 35 वर्ष थी, जिसे बाद में बढ़ाकर 45 साल कर दिया गया है. उस्ताद योजना में 33 फीसदी सीट महिलाओं के लिए रिजर्व हैं।

क्या है उस्ताद योजना का उद्देश्य

केंद्र सरकार ने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों में पारंपरिक कला और समुदाय से संबंधित हस्तकला को बढ़ावा देने के लिए कौशल विकास तथा प्रशिक्षण योजना उस्ताद योजना शुरू की है. उस्ताद योजना में ऐसी नीतियों को प्रमुखता दी गयी है, जिससे पारंपरिक धरोहर से बेरुखी की स्थिति में बदलाव लाया जा सके.

हमारी पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद , आशा करते है आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी। ऐसी ही पोस्ट देखने ओर पड़ने के आते रहिए हमारी वैबसाइट sarkarikist.com पर ।

धन्यवाद 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button